Skip to content

टेक्नोलॉजी जो मेटावर्स को असल जीवन जैसा बनती है | Technology that makes metaverse real in Hindi

Introduction

मेटावर्स को हम एक ऐसी टेक्नोलॉजी मानते है की हम असल जीवन जैसे अनुभव कर सकेंगे, हम जो असल जीवन में नहीं कर सकते वो मेटावर्स में कर सकेंगे। मेटावर्स की अभी शुरुआत हुई है हमे इस टेक्नोलॉजी में बहुत सारा काम करना है। अगर हम बात करे असल जीवन की तो हम असल जीवन में सिर्फ चीजे देखके नहीं जीते उसे हमारी इन्द्रिय से अनुभव करते है। असल जीवन में हम रस्ते पर या मैदान में चलते है तो हम सिर्फ ये नहीं देखते की हमारे आसपास चीज़े हिल रही है या चीज़े हिलने की आवाज आति है तो हवा चल रही है, हम उसे अनुभव करते है। मेटावर्स की बात करें तो अभी ये फील नहीं कर सकते। हम आवाज की बात करें तो हमे अभी भी इसमें काम करना है, जैसे हमने lockdown में ऑनलाइन क्लास और मीटिंग में देखा की कोई बोलता है तो background में आवाज़ आती है। 

हम गेम की बात करें तो GTA 5 में ऑनलाइन मोड में हम बैंक लूट सकते है, पोलिस से बचना होता है पर अगर हम देखे तो वो पहले से ही स्क्रिप्टेड है हम इस के आलावा और कुछ नहीं कर सकते। मेटावर्स में अभी ऐसी दुनिया बनानी चाहिए जिसमे हम हमे जो पसंद है वो कर सकें। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कोन कोनसी टेक्नोलॉजी है जिससे हम वर्चुअल वर्ल्ड को अनुभव कर सकें। 

खुश्बू | Smell

OVRtechnology

हमने बात की मेटावर्स में हम असल जीवन जैसा अनुभव कर सकेंगे।पर क्या हम घर बैठे किसी पहाड़ की खुश्बु ले सकते है? खुश्बू जो बहुत महत्वपूर्ण इन्द्रिय है मनुष्य के लिए। क्या होगा अगर हम घर बैठे TV में चल  रही कोई होटल की ad में बन रहे पनीर की सब्जी की खुश्बू ले सके, चॉकलेट फ्लेवर के अत्तर की खुश्बू घर बैठे ले सके, या फिर यूट्यूब पर चल रहे किसी Vlog में हो रही बारिस में आ रही मिट्टी की खुश्बू हम अपने घर में गर्मी में बैठे बैठे ले सके? आज  हम ये सब मेटावर्स में नहीं कर सकते  पर बहुत सारी कंपनी इस पर  काम कर रही है। OVR technology इस प्रॉब्लम पर काम कर रही है और उन्होंने एक ऐसा डिवाइस भी लॉन्च किया है जो आपके vr headset पर attach होता है जिससे आपको खुश्बू आती है। 

FeelReal

एक और कंपनी भी है जिसका नाम है FeelReal जिसमे आप सिर्फ खुश्बू ही नहीं आप अपने मुँह पर बारिश, ठंडी, गर्मी और वाइब्रेशन का भी अनुभव कर सकते है। इसमें आप मूवी और गेम नहीं देख सकते है। 

मेटावर्स के बारेंमे जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें :- https://sbmeta.tech/metaverse-explained-in-hindi/

स्पर्श | Touch

आगे आपने देखा की कुछ कंपनी मेटावर्स को असली जीवन जैसा बनाने बहुत रिसर्च कर रही है। सोचो की आप किसी चीज़ को छू रहे हो पर आप उसको अनुभव नहीं कर सकते, आपको देखे बिना पता ही नहीं चल पा रहा की आप पानी को छू रहे हो, पथ्थर को छू रहे हो, या फिर कोई नुकीली चीज़ को छू रहे हो। यह गेम में होता है जैसे GTA-5 । मेटा जैसी बड़ी कंपनी भी आज haptic glove पर काम कर रही है, या कोई स्टार्टअप इस टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है या फिर रिसर्च कर रहा है तो उनको फंडिंग दे रही है। Haptic glove ऐसा समाधान जो स्पर्श की प्रॉब्लम को हल कर रहा है। 

Meta Haptic Glove

Haptic glove का उदेश्य है की यह आपकी ऊँगली को प्रतिक्रिया देता है जिससे आपको ऐसा अनुभव होता है आप किसी चीज़ को असल जीवन में स्पर्श कर रहे हो। इस टेक्नोलॉजी में छोटे छोटे microbubbles का उपयोग होता है जिसमे हवा भराती है और निकलती है जो आपको सनसनी प्रदान  करती है और आपकी ऊँगली पर स्पर्श का अनुभव होता है। इसमें एक चीप का उपयोग होता है जिसे high-speed microfluidic processor कहते है जिससे microbubble कंट्रोल होते है और उसमे जल्दी से हवा निकलती है। एक उदाहरण की मदद से समझते है की आप मेटावर्स में कीबोर्ड पर कुछ टाइप कर रहे है पर haptic glove की मदद से आप हवा में हाथ हिलाये बिना कीबोर्ड पर key दबाने पर अनुभव कर सकेंगे। 

इस टेक्नोलॉजी में बहुत काम बाकि है अभी क्योकि इसमें भौतिक विज्ञानं का बहुत ज्यादा उपयोग होने वाला है। इस बात को एक उदहारण से समजे तो अगर हम एक वर्चुअल दुनिया में है जहा बारिस हो रही है तो इसमें कुछ बूंद आपके ऊपर नहीं गिरी, कुछ बून्द आपके हाथ पर सीधी गिरी और कुछ बूंद आपकी ऊँगली की दाई और गिरी इन तीनो परिस्थिति में आपको अलग अलग अनुभव होगा और इसमें बहुत ज्यादा भौतिक विज्ञानं का उपयोग होगा। 

NFT के बारेंमे जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें :- https://sbmeta.tech/what-is-nft-in-hindi/

स्वाद | Taste

Taste The TV

जापान में एक Meiji नाम की यूनिवर्सिटी है वहा के एक प्रोफेसर है जिनका नाम Homei Miyashita है उन्होंने एक concept डिवाइस बनाया है Taste The TV. यह डिवाइस स्क्रीन पर फ्लेवर स्प्रे करता है जिसको चाट कर TV पर जो चल रहा है उसका स्वाद ले सकते है। 

खुश्बू(smell) जिस concept पर काम करता है उसी concept पर यह आईडिया काम करता है जिसमे कुछ मुख्य और मौलिक(fundamental) सामग्री को लिया जाता है और उसको मिलाकर अलग अलग स्वाद और सुगंद बनाई जाती है। आजकल बहुत सारे लोग और organizations इस पर रिसर्च कर रहे है सुर मेटा भी उनको मदद कर रहा है।  

मेटावर्स में पैसे कमाने के तरीके जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें :- https://sbmeta.tech/earning-opportunities-in-the-metaverse-in-hindi/

गतिविधि | Movement 

जैसे आगे हमने देखा की मेटावर्स में हम खुश्बू, स्पर्श, और स्वाद का अनुभव कर सकेंगे पर गतिविधि का अनुभव करना सबसे मुश्किल है। Proprioception की मदद से हम हमारे शरीर का स्थान और गतिविधि को अनुभव कर सकते है बिना देखे। इसकी मदद से हम हमारी आंख बंद करके खा सकते है। 

Movement

इसकी जरुरत हमें मेटावर्स में है जिसकी मदद से हम मेटावर्स हमारी गतिविधि का अनुभव कर सकें। जब हमारी इंद्रिय हम जो अनुभव करते है उससे असहमत होती है तब हमारा जी मचलने लगता है। 

आम तोर पर जब हम बैठे रहते है और हमारी आसपास की चीज़े गति में होती है तो हम बीमार महसूस करते है। इसके कारण कुछ लोग लंबी यात्रा के बाद बीमार महसूस करते है। यह एक बड़ी प्रॉब्लम है जिसको हम जटिल परीक्षण जैसे मिलिट्री, और astronaut में उपयोग  करते है  पर ये कोई ऐसी चीज नहीं है जिसका उपयोग हम अभी हमारे घर के लिविंग रूम या बैडरूम में कर सके। 

Conclusion

हमने इस आर्टिकल में बात की कोन कोन सी टेक्नॉलजी है जिसकी मदद से हम मेटावर्स में असल जीवन जैसा अनुभव कर सकेंगे। मेटावर्स को असल जीवन से जोड़ने के लिए बड़ी बड़ी कंपनी इस पर काम कर रही है पर ये अभी भी एक प्रश्न है की क्या मेटावर्स को असल जीवन जैसा बनाने के लिए कोई कंपनी ऐसी टेक्नोलॉजी बना पाएगी या फिर यह एक VR नौटंकी है जिसके अंदर हम असल जीवन जैसा अनुभव नहीं कर सकते ?आपको क्या लगता है आप कमेंट करके बताये। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा और उपयोगी लगा हो तो आप अपने दोस्त और रिस्तेदार के साथ यह आर्टिक्ल शेयर करें। मिलते है अगले आर्टिकल के साथ।  

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published.