क्रिप्टोकरेन्सी के दो पहलु 

Decentralized

यह क्रिप्टोकरेन्सी का सबसे बड़ा फायदा है। इसको कोई एक आदमी या संगठन नहीं चला सकता इसको एक नेटवर्क चलता है जीसके कारण ब्लॉकचैन को कोई हैक नहीं कर सकता।

Decentralized

एक और से देखे तो क्रिप्टोकरेन्सी पूरी तरह से decentralized नहीं है बड़े बड़े लोग जिसके पास बहुत सारा पैसा है वो ज्यादा क्रिप्टोकरेन्सी own करते है। अगर वो  एक साथ क्रिप्टोकरेन्सी को बेचे तो इसका भाव बहुत ज्यादा गिर सकता है जिसकी वजह से आम आदमी जिसने इन्ही बड़े बड़े लोगो को देख कर पैसे इसमें इन्वेस्ट करे  है उनको नुकशान हो सकता है।

आजकल बहुत सारे क्रिप्टो माइनर सुद्ध energy का उपयोग करते है जैसे सोलर या पवनचक्की। यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैम्ब्रिज के एक survey के अनुसार क्रिप्टो माइन करने के लिए 40% renewable energy का उपयोग होता है।

Environment

क्रिप्टोकरेन्सी को माइन करने के लिए बहुत सारे कंप्यूटर की जरुरत होती है और यह कंप्यूटर दिन रात चालू रहते है जिसकी वजह से बहुत सारी energy का उपयोग होता है। यह नंबर जैसे बिटकॉइन की किंमत बढ़ती है वैसे वैसे बढ़ता है और energy का उपयोग भी बढ़ता है। जो कंप्यूटर दिन रात चलते है वो भी कभी न कभी तो ख़राब होंगे जिसकी वजह से इ-वेस्ट बढ़ता है।

Environment

इसके उपर सरकार का कोई कण्ट्रोल नहीं है जिसके कारन सरकार के कोई ख़राब फेसले का इसके ऊपर कोई असर नहीं होता। Venezuela नाम के एक देश में वह की सरकार के गलत फेसले के कारन वहा की currency जिसकी किंमत 2020 में 1 venezuelan bolivar = 7 इंडियन रुपया थी उसकी किंमत आज 1 venezuelan bolivar = 0.00014 रुपया है। पर हम क्रिप्टोकरेन्सी की बात करें तो इसकी किंमत किसी सरकार के हाथ में नहीं है।

आजकल बहुत सारी क्रिप्टोकरेन्सी है। कुछ क्रिप्टोकरेन्सी scam भी है। अगर हम कुछ समय पहले की बात करे squid game coin जो एक OTT series squid game प्रेरित था। इसमें बहुत सारे लोगो ने इन्वेस्ट किया था पर इसके creator ने 10 मिनिट में ही 3.36 मिलियन $ किंमत के सारे squid coin बेच दिए जिसकी वजह से 10 मिनिट में ही इस coin की किंमत 0 के बराबर हो गई।

https://sbmeta.tech/cryptocurrency-in-hindi-2022/

https://sbmeta.tech/cryptocurrency-in-hindi-2022/

क्रिप्टोकरेन्सी के बारेंमे ज्यादा जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।