क्रिप्टो बिल India 2022

कुछ साल पहले बहुत सारे देश की सरकार क्रिप्टोकरेन्सी का स्वीकार नहीं कर रही थी। कुछ देश की सरकार ने क्रिप्टोकरेन्सी को बेन कर दिया था। आज ऐसा नहीं है बहोत सारे देश में अभी क्रिप्टोकरेन्सी क़ानूनी है जैसे El salvador।

हम अब देखेंगे भारत में जो हाल ही में 2022 का क्रिप्टो बिल आया है उसमे कोन कोन सी चीजे है। अभी ये बिल एप्लीकेबल भी हो चूका है 1st April 2022 से।

अगर कोई वर्चुअल मुद्रा यानी क्रिप्टोकरेन्सी से एक financial year में प्रॉफिट करता है तो उसका 30% टैक्स सरकार को देना होगा। एक उदहारण से समझते है, आप 1000 रूपए की क्रिप्टोकरेन्सी खरीदते हो अगर आप उस क्रिप्टोकरेन्सी को 1100 रुपए में बेचते हो तो आपको 30 रुपए सरकार को टेक्स के रूप में देना होगा पर यहाँ पर आप अगर उस क्रिप्टोकरेन्सी को 900 रुपए में बेचते हो तो लॉस आपको भुगतना होगा।

क्रिप्टो टेक्स आपके क्रिप्टो को बेचने के बाद जो प्रॉफिट होता है उसमे से ही भरना होगा। एक उदहारण से देखते है की अगर आप को 200 रुपए का प्रॉफिट होता है और आप 50 रुपए एक क्रिप्टोकरेन्सी का कोर्स लेने में खर्च कर देते हो तो यहाँ आपको 150 रुपए मेसे टैक्स नहीं देना आपको टेक्स 200 रुपए मेसे ही देना होगा।

आपके मम्मी-पापा या भाई-बहन मतलब आपका जिनके साथ खून का रिस्ता है वो आपको अगर क्रिप्टो गिफ्ट के रूप में देते है तो उसमे 1% टेक्स लगेगा जब की अगर आपको वो फिजिकल या बैंक में पैसे देते तो उसमे टेक्स नहीं लगता।

भारत के finance minister Nirmala Sitharaman ने ये भी कहा है की भारत सरकार 2023 तक खुदकी एक वर्चुअल करेन्सी यानि क्रिप्टोकरेन्सी का परिचय देंगी और इसका नाम होगा “Central Bank Digital Currency (CBDC)” जो ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित होगी।