Skip to content

ओएनडीसी क्या है ? | What is ONDC in Hindi by sbmeta

What is ONDC in Hindi

इंट्रोडक्शन | Introduction

भारत एक ऐसा देश बनने जा रहा है जिसकी आप सब लोग कल्पना भी नहीं कर सकते। भारत ने पिछले कुछ साल में ऐसी प्रगति की है जिससे भारत को एक सुपर पावर बनने से कोई रोक नहीं सकता। वीज़ा और मास्टरकार्ड जैसी बड़ी बड़ी विदेशी कंपनी जो डेबिट/क्रेडिट कार्ड इंडस्ट्री में राज करते थे उनको भारत ने RuPay के माध्यम से पछाड़ दिया। आज आप अगर किसीको अपने मोबाइल से भारत के किसी भी कोने में पैसे भेज सकते हो तो उसका कारन है UPI. आज भारत ने UPI के माध्यम से डिजिटल पेमेंट को आसान बना दिया है। कुछ महीने पहले Infosys के को-फाउंडर नंदन निलकनीजी ने ONDC को अनाउंस किया। विषेशज्ञ की माने तो ये प्रोजेक्ट भारत के ई-कॉमर्स को बदल के रख देगा। चलिए जानते है भारत का ये ONDC प्रोजेक्ट क्या है।  

ओएनडीसी क्या है ? | What is ONDC in Hindi

कुछ महीने पहले सरकार ने एक hackathon आयोजित करी थी और लोगो को आमंत्रित किया था की कैसे भारत सरकार ऐसा सॉफ्टेवर बनाये जिससे भारत सरकार बड़े बड़े इ-कॉमर्स को टक्कर दे सके। यहाँ पर 21 दिसंबर 2021 को जन्म होता है ONDC का। ONDC का फुल फॉर्म है Open Network for Digital Commerce. ये UPI जैसी ही एक टेक्नोलॉजी है जो इ-कॉमर्स इंडस्ट्री को बदल देगा। बहुत सारे लोग इसे ऐसा प्लेटफोर्म मानते है जो amazon और flipkart को टक्कर देगा। पर ये एक प्लेटफॉर्म भी नहीं है ये एक नेटवर्क है। जैसे UPI एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जो किसी भी प्राइवेट प्लेटफॉर्म जैसे google pay, phone pay, paytm को टक्कर नहीं दे रहा UPI उनको ऐसी सुरक्षित टेक्नोलॉजी दे रहा है जिससे लोग ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन पेमेंट का उपयोग करे। हम आगे बात करेंगे कैसे ONDC काम करता है। ONDC का मुख्य मकसद यही है की छोटे से छोटा दुकानदार बड़े बड़े बिज़नेस के साथ समान मुकाबला कर सके। UPI के जैसे ही ONDC एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसका उपयोग करके हम किसी भी प्लेटफार्म से ONDC का उपयोग कर सके। चलो अब हम समझते है ONDC कैसे काम करता है ?

UPI के बारेंमे जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें :- https://sbmeta.tech/what-is-upi-in-hindi/

ओएनडीसी कैसे काम करता है ? How ONDC works in Hindi

आज के समय अगर किसी छोटे या बड़े दुकानदार/बिज़नेसमेन को अपने बिज़नेस को ऑनलाइन लाना है तो या तो वो 1. अपने प्रोडक्ट को भारत के लीडिंग एग्रीगेटर Amazon या Flipkart या meesho पर बेच सकता है। 2. अपनी खुदकी वेबसाइट बनाए और ऑनलाइन अपने प्रोडक्ट को बेचे पर ये किसी छोटे दुकानदार/बिज़नेसमेन के लिए सरल नहीं है क्योकि इसमें पैसा बहुत ज्यादा लगता है। 

एक उदहारण से समझते है की ONDC कैसे काम करता है। 

ONDC में दो भाग है। 

  1. बायर साइड ऍप – मान लीजिए की आपको एक टूथपेस्ट चाहिए। आप किसी भी ऍप का उपयोग करके आपको जिस कंपनी की टूथपेस्ट चाहिए आप सर्च कर सकते है और आपको लिस्ट मिलेगी उन दुकानदारों की जो आपके आसपास उस कंपनी की टूथपेस्ट बेचते है। आप वहा से आर्डर बुक कर सकते है। मान लो अब आपने उस लिस्ट मेसे छगन किराना वाला नामकी दुकान से एक टूथपेस्ट आर्डर की।  
  2. सेलर साइड ऍप – छगन किराना वाला नाम की दुकान जहा से आपने टूथपेस्ट आर्डर की उसके मालिक के पास एक ऍप होगी जो है सेलर ऍप। सेलर ऍप में नोटिफिकेशन आएगी की आपके पास इस कंपनी की 2 टूथपेस्ट का एक आर्डर आया है। अब दुकानदार है वो आर्डर को मंजूर करेगा और वो ऑटोमॅटिकली डिलीवरी पार्टनर के साथ लिंक होगा और वो उसके डिलीवर कर देंगे। 

दुकानदार को ऑनलाइन आने में दो ही दिक्कत थी जो थी पैसा और टेक्नोलॉजी। यहा अब दुकानदार को ऑनलाइन आने में जिस चीज़ में सबसे ज्यादा दिक्कत थी वो ख़तम हो गई। क्योकि दुकानदार फ्री में अपनी दुकान को लिस्ट कर सकता है और टेक्नोलॉजी को ONDC ने आसान कर दिया। 

ONDC में एक यूनिफाइड रेटिंग सिस्टम भी होगा जहा आप दुकानदार को रेटिंग दे सकेंगे। जैसे हमने देखा की ग्राहक किसी भी ऍप से सामान खरीद सकता है ये रेटिंग भी सभी ऍप में दिखेगा। उदहारण से समजे तो अगर छगन किराना वाला नामकी दुकान की रेटिंग एक ऍप में 4.5 स्टार है तो सभी ऍप में 4.5 स्टार ही दिखेगा जिससे दुकानदार को रैंकिंग में फायदा होगा हो ग्राहक को भी फायदा होगा। 

आपने बहुत सारे ऐसे लोग देखे होंगे जो ऑनलाइन खरीदते है और एक बार उपयोग करके रिटर्न कर देते है। ONDC में भविष्य में कस्टमर रेटिंग सिस्टम भी होगा जहा दुकानदार ग्राहक को रेटिंग दे सकेगा। 

बहुत सारे लोग बोलेंगे की हम ऑनलाइन सामान क्यों बेचे, अपने आसपास तो कॉल से आर्डर लेकर खुद जाके दे सकते है। यहाँ ऐसा नहीं है की दुकानदार अपने आसपास ही सामान बेच सकेगा आपको कही से भी आर्डर आ सकता है और आर्डर को डिलीवर करने का काम ONDC का है। 

क्रिप्टोकरेन्सी के बारेंमे जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें :-https://sbmeta.tech/cryptocurrency-in-hindi-2022/

ओएनडीसी पे सामान बेचना कैसे शुरू करें ? | How to start selling on ONDC in Hindi

अगर आप ONDC पर सामान बेचना चाहते है तो आप निचे दिए गए स्टेप से बेच सकते है। 

स्टेप 1 :-

https://admin.sellerapp.in/en/onboard/merchant-signup?marketplace_reference_id=460eefc4d004dd186ffef65999df0dce&user=Store पर क्लिक करके अपना सेलर अकाउंट बना सकते है। Sign Up हो जाने के बाद आपका अकाउंट वेरीफाई होगा। आपका अकाउंट वेरीफाई हुआ है या नहीं वो आपको आपके mail द्वारा पता चलेगा। 

स्टेप 2:-

अकाउंट वेरीफाई होने के बाद एक डेशबोर्ड खुलेगा जहा आप अपनी दुकान का एड्रेस/लोकेशन Logo और banner image ये सब दे सकते है। अगर आपको अंग्रेजी भाषा नहीं आती तो आप डेशबोर्ड की भाषा भी बदल सकते है।

क्यों हमे ओएनडीसी की जरुरत है ? | Why do we need ONDC in Hindi

हमने UPI के ऊपर जो केस स्टडी बनाई है उसमे बात की है की कैसे लोग डिजिटल पेमेंट को अपना रहे है। भारत को डिजिटल और भ्रस्टाचार मुक्त बनाने में ये सब टेक्नोलॉजी बहुत ज्यादा अच्छी साबित हो सकती है। अगर हम  देखे तो कोई आदमी/औरत किसी भी दुकान से खरीददारी करता है तो वो UPI से पैसे चुकाएगा। विशेषज्ञो के अनुसार भारत में इ-कॉमर्स इंडस्ट्री 2027 तक 200 बिलियन डॉलर की हो जाएगी। पर हम देखे तो आज 60% जितना मार्किट amazon और flipkart जैसी बड़ी बड़ी कंपनी के हाथ में है जिससे कोई छोटे दुकानदार मुकाबला कर ही नहीं सकते। ONDC को जो सोच रहे है उससे बहुत ज्यादा फायदा हो सकता है। 

Why do we need ONDC in Hindi

अगर हम दुकानदार या बिज़नेस के नजरिए से देखे तो उनको फायदा होगा की उनको बिज़नेस करने में आसानी होगी। उनके ग्राहक बढ़ेंगे, और सामान आसानी से डिलीवर कर पाएंगे। हम 

अगर हम ग्राहक के नजरिये से देखे तो आपके पर बहुत ज्यादा विकल्प होगे। आप देख सकेंगे की आपकी आसपास सबसे अच्छा और सस्ता सामान बेच रहा है और वहा से आप खरीद सकते है। 

Conclusion

भारत सरकार देश को डिजिटल बनाने में बहुत सारे प्रयास कर रही है। बहुत सारे लोग इसे बड़ी बड़ी इ-कॉमर्स कंपनी का कॉम्पिटिटर समज रहे है। पर ऐसा बिलकुल नहीं है ये UPI जैसा एक यूनिफाइड इंटरफ़ेस है जिससे दुकानदार अपना सामान  कही भी बेच सके बिना किसी ऍप पर जटिल प्रोसेस किए बिना। हमने देखा ONDC क्या है, कैसे ONDC काम करता है, आप कैसे ONDC पे सामान बेच सकते है और हमे इसकी जरुरत क्यों है। मुझे आशा है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और अगर आपको कोई प्रश्न है तो आप कमेंट में पूछ सकते है। में गुजारिस करता हु की आप इस आर्टिकल को अपने दोस्त और रिस्तेदार के साथ शेयर करे। 

FAQ’s

ONDC का फुल फॉर्म क्या है ? | What is the full form of ONDC in Hindi

ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स | Open Network for Digital Commerce.

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published.